• अकिंचन फाउण्डेशन ट्रस्ट की स्थापना एवं पंजीकरण भारतीय  न्यास   अधिनियम 1882 के अन्तर्गत की गई है। इस ट्रस्ट पर भारतीय न्याय अधिनियम 1882 में दिये गये समस्त नियम व उपनियम लागू होंगे जो इस ट्रस्ट के लिए आवश्यक है ओर न्यायिक विद्या व्यवहारिक एवं विधि मान्य है।
  • अकिंचन फाउण्डेशन ट्रस्ट उसके अनुपालन के लिए प्रतिबद्ध है। इस ट्रस्ट के निर्माता एवं निष्पादक कर्तागण द्वारा यह घोषणा की जाती है कि 10,000/- रूपये से इस ट्रस्ट की स्थापना की जा रही है। हम निष्पादककर्तागण यह भी घोषणा करते है कि भविष्य में इस ट्रस्ट के माध्यम से जो भी दान, अनुदान, सहायता, चल अचल सम्पत्ति इस ट्रस्ट को प्राप्त होगा उसका उपयोग व उपभोग क्षेत्र में सामाजिक आर्थिक विकास शैक्षिक विकास एवम् भारतीय संस्कृति सभ्यता के संरक्षण मद में व्यय किया जायेगा। प्राप्त अनुदान दान की जो धनराशि ट्रस्ट को प्राप्त होगा उसका उल्लेख इस ट्रस्ट के आय व्यय रजिस्टर में दर्ज किया जायेगा।
  • यह कि मै निष्पादककर्ता इस ट्रस्ट के मुख्य ट्रस्टी के रूप में अपने जीवनकाल तक बने रहेंगे। अमरनाथ पाण्डेय आजीवन इस ट्रस्ट की संस्थापक प्रबन्धक/सचिव रहेंगे। ट्रस्ट की औपचारिक दस्तावेज को क्रियान्वित करने के लिए हम निम्न नियमों एवं शर्तो के अधीन करते है।

ट्रस्ट का नाम – अकिंचन फाउण्डेशन
 
ट्रस्ट का स्थाई पता – हैनीमन होमियोपैथिक भवन, भारत गैस एजेन्सी लाईन बाजार के पास, जिला जौनपुर उ0प्र0
 
ट्रस्ट निर्माण/निष्पादकर्ता : अमरनाथ पाण्डेय पुत्र श्री राम कुमार पाण्डेय निवासी थाना हैनीमन होमियोपैथिक भवन, भारत गैस एजेन्सी लाईन बाजार के पास, जिला
जौनपुर उ0प्र0
 
ट्रस्ट का कार्यक्षेत्र : संपूर्ण भारत
 
ट्रस्ट द्वारा अधिकृत व्यक्ति –  

  1. श्री विनोद कुमार पाण्डेय।
  2. श्री राम कुमार पाण्डये।

ट्रस्ट का स्वरूप :
यह ट्रस्ट सामाजिक जन कल्याण, चिकित्सा एवं चैरिटेबुल है। जो धर्म जाति वर्ग समुदाय और राजनीति से ऊपर उठकर कार्य करेगा।
 
लाभग्राही : यह ट्रस्ट बिना किसी भेदभाव के क्षेत्र के सभी नागरिको के जन कल्याण, चिकित्सा विकास स्वास्थ्य रक्षा पर्यावरण सुरक्षा आदि के लिए कार्य करेगी।
 
फायदा ग्राही : ट्रस्ट द्वारा किसी भी प्रकार का कोई लाभ किसी व्यक्ति विशेष के लिए नही होगा बल्कि ट्रस्ट के विकास एवं उसके कार्यक्रमो का क्रियान्वयन लोक कल्याण के लिए किया जाएगा।
 

ट्रस्ट के उद्देश्य

 

  1. चिकित्सा कैम्प लगाना व निशुल्क दवा वितरण करना तथा सरकारी व गैर सरकारी संस्था से अनुदान लेना।
  2. समाज को पूर्ण स्वस्थ बनाने के लिए स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन करना एवं चिकित्सालयों का निर्माण कराकर संचालित करना तथा ऐसे कार्यो के लिए आर्थिक मदद् लेना।
  3. शारीरिक स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने एवं शारीरिक रूप से समाज को सामर्थ्यवान बनाने के उद्देश्य से खेल-कूद कार्यक्रम को आयोजित करना और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए पुरूस्कृत करना तथा खेल मैदानों का निर्माण कराकर सभी खेल सुविधायें एवं सामग्री उपलब्ध कराना तथा इस क्षेत्र के उचित आर्थिक सहयोग प्रदान करना।
  4. जन कल्याणकारी कार्यो का गति देने हेतु धन अर्जित करने के लिए आवश्यकतानुसार ऐसे व्यवसायिक कार्य करना जिससे धन अर्जित हो सके तथा बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध हो।
  5. धर्मशाला, प्याऊ, शौचालय भवनों आदि जन कल्याणकारी निर्माणों के करने हेतु ट्रस्ट के नाम से भूमि क्रय करना तथा किराये या लीज पर लेकर इन क्रमों को संचालित करना।
  6. ट्रस्ट के समस्त जन कल्याणकारी गतिविधियों के संचालन हेतु भूमि क्रय करना भवन एवं कार्यालय का निर्माण करना। इसके लिए देश के विभिन्न प्रान्त, जिलो, कस्बो, गावों आदि में विस्तार किया जा सकता है आवश्यकतानुसार भूमि को विक्रय लीज या किराये पर दिया जा सकता है एवं ट्रस्ट स्वतः भवन एवं भूमियों किराये में लीज पर लेकर उपयोग कर सकता है।
  7. योग एवं प्रकृतिक चिकित्सा के विभिन्न आयामों के व्यापक प्रचार-प्रसार करना तथा योग एवं प्रकृति चिकित्सा केन्दों की स्थापना करना व संचालन करना।
  8. देश की जन संख्या को नियंत्रण करने हेतु लोगों को जागरूक करना।
  9. लावारिस लासों को उनके धर्म के अनुसार अन्तिम संस्कार करना।
  10. बाल विकास, महिला कल्याण तथा बच्चों के स्वास्थ्य के लिए टीकाकरण तथा स्वास्थ्य शिविरों का निशुल्क आयोजन करना
  11. पर्यावरण एवं प्रदूषण सुधार हेतु जन जागरण व वृक्षारोपण जैसे राष्ट्रीय कार्यक्रमों का आयोजन करना।
  12. महिलाओं, दिव्यांग, आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लोगों में स्वालम्बन, आत्मनिर्भरता की भावना उत्पन्न करना तथा स्व रोजगार के लिए विभिन्न विभागों/संगठनों/संस्थानों द्वारा आर्थिक सहायता उपलब्ध कराना।
  13. ग्रामीण विकास परियोजनाओं का प्रचार-प्रसार एवं संचालन करना।
  14. मलिन बस्ती एवं अनुसूचित/जनजातियों के लोगों में शिक्षा-सफाई आदि के प्रति जागरूकता पैदा करना तथा उनके लिए सरकार द्वारा अनुदान प्राप्त कर कार्यक्रम संचालित करना।
  15. अनुसूचित जाति जनजाति बच्चों के लिए निशुल्क आवासीय विद्यालय का संचालन करना।
  16. ग्रामीण क्षेत्रों में स्वालम्बन की भावना जागृत्त करना एवं अनाथालय प्रोद शिक्षा कार्यक्रम का संचालन एवं अनुदान प्राप्त करना।
  17. सिप्सा, डूडा, आंगनवाड़ी, नेहरू रोजगार, स्वतः रोजगार आदि को वृस्तृत, प्रचार एवं संचालन करना।
  18. निर्धन एवं असहाय, छात्र-छात्राओं, महिलाओं, विधवा तलाकशुदा, दिव्यांगो को मुफ्त में चिकित्सकीय सहायता एवं चेचक, खसरा, डेंगू आदि से बचाव की दवाईयों का निशुल्क वितरण करना।
  19. सामाजिक कल्याण के लिए विभिन्न प्रकार के अनुदानों की सहायता से ऐलोपैथी एवं आयुष के स्वास्थ्य सम्बन्धित कार्यक्रमों का आयोजन एवं संचालन जिसके अन्तर्गत स्थायी एवं अस्थायी चिकित्सा केन्दों की स्थापना एवं संचालन।
  20. स्वास्थ्य सम्बन्धित कार्य का संचालन जिसके माध्यम से समाज, राष्ट्र एवं विश्व की कल्याण की भावना निहित हो।

 

ट्रस्ट की प्रबन्धकारिणी समिति

 
इस ट्रस्ट की एक प्रबन्धकारिणी समिति होगी, जो ट्रस्ट की प्रबन्ध संचालन करेगी इस ट्रस्ट की प्रबन्धकारिणी समिति में उत्तरदायी पद अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, उपसचिव, कोषाध्यक्ष व दो सदस्य होंगे इसके अतिरिक्त एक पद विधिक सलाहकार का होगा जिसे ट्रस्टी की प्रबन्धकारिणी समिति सर्वसम्मति से नियुक्त करेंगे। ट्रस्ट की वर्तमान में वैधानिक रूप से चुनी गयी प्रबन्धक समिति इस प्रकार है :

  1. नाम – अमरनाथ पाण्डेय पुत्र श्री राम कुमार पाण्डेय

    पता – हैनीमन होमियोपैथिक भवन, भारत गैस एजेन्सी के पास,
   थाना – लाईन  बाजार जिला – जौनपुर।  
    पद – अध्यक्ष
   व्यवसाय – समाजसेवा

  1. नामश्री विनोद कुमार पाण्डेय पुत्र श्रीराम कुमार पाण्डेय

    पता
    पद – उपाध्यक्ष
    व्यवसाय – कृषि

  1. नामश्रीराम कुमार पाण्डेय पुत्र श्री जय करन पाण्डेय

    पता – उपरोक्त
    पद – सविच
    व्यवसाय – अध्यापक

  1. नामश्री विरेन्द्र प्रसाद तिवारी पुत्र श्री रामअवध तिवारी

    पता – ग्राम बंजारिया गोसाई, हियारूपुर, बस्ती।
    पद – उपसचिव
     व्यवसाय – कृषि

  1. नामश्रीमती रेनू पाण्डेय पत्नी श्री अमरनाथ पाण्डेय

       पता – हैनीमन होमियोपैथिक भवन, भारत गैस एजेन्सी के पास,
       थाना – लाईन बाजार,  जिला – जौनपुर।  
        पद – कोषाध्यक्ष
       व्यवसाय – अध्यापक

  1. नामब्रजवाला पत्नी श्री त्रिभुवन

       पता – पचहटिया,   थाना – सदर,  जिला – जौनपुर।
       पद – सदस्य
       व्यवसाय – गृहणी

  1. नामअनूप कुमार बधवा पुत्र चुन्नी लाल बधवा

      पता – अबीरसर लता पंजाबी कालोनी, जौनपुर।
       पद – सदस्य
       व्यवसाय – व्यवसाय
ट्रस्ट की प्रबन्ध कारिणी समिति के उपरोक्त वर्णित पदाधिकारी व सदस्य आजीवन ट्रस्टी रहेंगे इनमे से किसी का स्थान रिक्त होने पर पदाधिकारी/मुख्य ट्रस्टी के उत्तराधिकारी या उनकी सहमति से कोई एक उत्तराधिकारी उनका स्थान ग्रहण करते रहेंगे।
 

ट्रस्ट की सदस्यता

 
ट्रस्ट की सदस्यता निम्न प्रकार की होगी :-
संस्थापक ट्रस्टी : इस ट्रस्ट में अमरनाथ पाण्डेय एवं श्रीमती रेनू पाण्डेय (जो इस ट्रस्टडीड के निष्पादकगण है) संस्थापक ट्रस्टी एवं मुख्य ट्रस्टी माने जायेंगे इन दोनो मे से यदि कोई स्थान रिक्त होता है तो उनके उत्तराधिकारी या उनकी सहमति से कोई एक उत्तराधिकारी उनका स्थान ग्रहण करते रहेंगे। इन्हे अपने जीवनकाल में उत्तराधिकारी के अलावा किसी अन्य व्यक्ति को ट्रस्टी मनोनित करने का अधिकार होगा।
आजीवन ट्रस्टी : जो व्यक्ति इस ट्रस्ट को कम से कम 5,000/- रूपया नगद या उतने ही मूल्य की अचल सम्पत्ति इस ट्रस्ट को देगा उसे संस्थापक ट्रस्टी की सहमति से आजीवन ट्रस्टी बना लिया जायेगा।
सामान्य ट्रस्टी : जो व्यक्ति इस ट्रस्ट को 500/- रूपया वार्षिक देगा उसे ट्रस्ट का सामान्य सदस्य माना जायेगा।
 
ट्रस्ट की सदस्यता समाप्ति
 
किसी भी ट्रस्टी की सदस्यता निम्न परिस्थिति में समाप्त मानी जायेगी।

  1. मृत्यु होने पर।
  2. पागल या दिवालिया होने पर।
  3. न्यायालय द्वारा अपराध में वांछित होने या दण्डित होने की दशा में।
  4. निर्धारित सदस्यता शुल्क न देने पर।
  5. लगातार तीन बैठको में अनुपस्थित रहने पर।
  6. त्याग पत्र देने पर।
  7. संस्था विरोधी कार्य करने व दोषी पाये जाने पर।
  8. नैतिक पतन होने पर।